गुमनाम नायक हैं आइआइटी के निलंबित प्रोफेसर

As reported in Dainik Jagran on 14/10/11

गुमनाम नायक हैं आइआइटी के निलंबित प्रोफेसर
नई दिल्ली, एजेंसियां : सुप्रीम कोर्ट ने आइआइटी, खड़गपुर के कंप्यूटर साइंस के प्रोफेसर राजीव कुमार की जमकर तारीफ की है। कुमार ने आइआइटी में दाखिले के लिए आयोजित संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई)-2006 में कट ऑफ तय करने की प्रक्रिया को चुनौती दी थी। अदालत ने कहा कि कुमार उन गुमनाम नायकों में शामिल हैं जिनके प्रयासों से सिस्टम में सुधार लाने में कामयाबी मिली। हालांकि देश की सर्वोच्च अदालत ने कुमार के बेटे को आइआइटी में दाखिला देने की याचिका को खारिज कर दिया। सुप्रीम कोर्ट में न्यायमूर्ति आरवी रवींद्रन एवं एके पटनायक की पीठ ने कुमार की याचिका पर सुनवाई करते हुए यह स्वीकार किया कि जेईई-2006 में कट ऑफ तय करने के लिए अपनाई गई प्रक्रिया सबसे अच्छी नहीं कही जा सकती है। कुमार की प्रशंसा करते हुए पीठ ने कहा, याची को इस बात से संतुष्ट होना चाहिए कि वह उन अनाम नायकों में शुमार है जिनके कारण सिस्टम में सुधार आया। मुकदमा दायर करने वालों ने जेईई-2006 की कट ऑफ प्रक्रिया को चुनौती दी। आरटीआइ आवेदनों के जरिए इसमें पारदर्शिता लाने की कोशिश की और इस पर स्वस्थ बहस को जन्म दिया।

Source: http://in.jagran.yahoo.com/epaper/ar…23549771174912

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s